अमेरिका: टेक्सास यूनिवर्सिटी में फायरिंग, एक व्यक्ति के मारे जाने की खबर

टेक्सास। अमेरिका की टेक्सास  यूनिवर्सिटी में अंधाधून गोलीबारी की खबर सामने आई  है। मिली जानकारी के मुताबिक इस फायरिंग में एक पुसिस ऑफिसर की मौत हो गई  है। फायरिंग के बाद यूनिवर्सिटी के कैंपस को बंद कर दिया गया है। वहीं पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद आरोपी को पकड़ लिया है। खबरों की माने तो एक छात्र को कैंपस में स्थित पुलिस स्टेशन में जांच के लिए लेकर जाया गया था। जांच के दौरान आरोपी छात्र ने अपने बैग में से पिस्टल  निकाली और पुलिस विभाग के अधिकारियों पर फायरिंग कर दी,जिसमें एक पुलिस कर्मी की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार आरोपी कैंपस में ही छिपा हुआ था। 

हमले के बाद पुलिस ने यूनिवर्सिटी के  स्टूडेंट्स, प्रोफेसर, फैकल्टी और स्टाफ को शेल्टर लेने को कहा है। ताजा जानकारी से पता चला है कि अभी तक पुलिस ने हमलावर का विवरण जारी नहीं किया है। यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता क्रिस कुक के मुताबिक कैंपस पुलिस ने सोमवार शाम को चेकिंग की थी, जिसमें कुछ स्टूडेंट्स के कमरे से ड्रग्स मिले थे। कुक ने बताया कि ड्रग्स रखने के आरोप में हमला करने वाले स्टूडेंट को सामान्य प्रक्रिया के तहत कैंपस पुलिस स्टेशन लाया गया। इस दौरान आरोपी ने बंदूक निकाली और एक अफसर पर गोली चला दी।  इसके बाद आरोपी फरार हो गया और काफी मशक्कत के बाद वो पकड़ में आया।

 

गौरतलब  है कि कुछ समय पहले अमेरिका के वेगास में एक संगीत समारोह के दौरान एक व्यक्ति ने फायरिंग की थी,जिसमे 59 लोगों की मौत हो गई थी और 500 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। बता देें कि अमेरिका के इतिहास में 9\11 के बाद ये सबसे बड़ी घटना थी। इस घटना के बाद पुसिल ने कहा था कि बंदूकधारी की पहचान 64 साल के स्टीफन पैडॉक के रूप में हुई थी।

बताते चलें कि हमलावर ने एक संगीत समारोह स्थल के बगल में मैंडले बे की 32वीं मंजिल से गोलीबारी की थी. वहीं आतंकी संगठन आईएसआईएस ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। ISIS का दावा है कि स्टीफन पैडॉक ने हाल ही में इस्लाम कुबूल किया था। इसके अलावा पता चला है कि स्टीफन पैडॉक जुआ खेलने का शौकीन था, कई बार ट्रैफिक नियम तोड़ने के आरोप में भी पकड़ा गया था।