योगी के मुख्यमंत्री बनते ही कत्लखानों पर ताले लगने शुरू

इलाहाबाद। उत्तर प्रदेश की सत्ता संभालते ही योगी आदित्यनाथ ने तल्ख तेवर दिखाना शुरू कर दिया है। पहले उन्होंने कैबिनेट मंत्रियों को संपत्ति का ब्यौरा 15 दिनों में देने का आदेश सुना दिया और अब योगी प्रदेश भर के कत्लखानों में ताले लगवाने शुरू कर दिए हैं। रविवार को इलाहाबाद नगर निगम प्रशासन ने रात करेली पुलिस के साथ अटाला और नैनी के चकदोंदी मोहल्ले में चल रहे स्लॉटर हाउस को सील कर दिया। गौरतलब है कि शहर में अटाला के साथ रामबाग और नैनी के स्लॉटर हाउस को बंद करने के लिए एनजीटी पहले ही आदेश दे चुका था इसके बाबजूद ये जगहें खुली हुई थी।


रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में 250 से ज्यादा अवैध स्लॉटर हाउस को चिन्हित करके कार्रवाई करने की बात कही गई है। बताया जा रहा है कि इन स्लॉटर हाउस में रोजाना 200 से 400 जानवरों को अवैध रूप से मारा जाता है।

बता दें कि चुनाव प्रचार के दौरान ही भाजपा ने इस बात की घोषणा की थी अगर सत्ता में उनकी सरकार आती है तो वो प्रदेश में हो रहे जानवरों के अवैध काटन को रोकने का काम करेंगे। इसी कड़ी में शपथ लेने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्लॉटर हाउस को बंद कराने का अपना वादा पूरा किया।

स्लॉटर पर हुई इस कार्रवाई के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान अधिकारियों ने कहा कि यहां पर दो स्लॉटर हाउस हैं। जो प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के दिशा निर्देश पर धारा 33ए के तहत सील कर दिए गए हैं। अधिकारियों का ये भी कहना है कि बाकि स्लॉटर हाउस को भी बंद करने के लिए सरकार जल्द ही कोई ठोस कदम उठा सकती है।