अजमेर दरगाह ब्लास्ट : तीन अप्रैल को जमा होगी सप्लीमेंट्री फाइनल रिपोर्ट

जयपुर। राजस्थान के अजमेर दरगाह बम ब्लास्ट मामले की सप्लीमेंट्री फाइनल रिपोर्ट अब 3 अप्रैल को जारी होगी। बता दें कि यह रिपोर्ट पहले मंगलवार को जमा होनी थी लेकिन एनआईए ने कोर्ट से कुछ और समय की मोहलत मांगी। एनआईए की ओर से मंगलवार को सीबीआई की विशेष अदालत में इंस्पेक्टर नरेन्द्र कुमार जांगिड़ पेश हुए और बताया कि अभी फाइनल रिपोर्ट तय हेने में थोड़ा और समय लगेगा। लिहाजा रिपोर्ट जमा कराने के लिए 31 मार्च तक का समय दिया जाए।

एनआईए के प्रार्थना पत्र पर सुनवाई करते हुए न्यायाधीश दिनेश गुप्ता के 31 मार्च को अवकाश पर रहने के चलते उन्होंने रिपोर्ट जमा करने के लिए 03 अप्रेल तक का समय दे दिया। दरअसल अजमेर दरगाह बम ब्लास्ट मामले में जांच एजेंसी एनआईए ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के इन्द्रेश कुमार, साध्वी प्रज्ञा समेत चार अन्य लोगों को क्लीन चिट दे दी थी।

लेकिन सभी लोगों के चार्जशीट में खिलाफ जांच पैंडिग रखी गई थी। ऐसे में अदालत ने एनआईए की पूर्व में जमा की गई रिपोर्ट को विधि सम्मत नहीं मानते हुए दोबारा से मंगलवार को रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए थे। लेकिन एनआईए मंगलवार को रिपोर्ट पेश नहीं कर पाई।

बता दें कि अजमेर की प्रसिद्ध ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह 11 अक्टूबर 2007 एक विस्फोट हुआ था। इस मामले में 09 साल बाद 08 मार्च को फैसला आया था। कोर्ट ने तीन आरोपियों को दोषी करार दिया था। हालांकि इनमें से एक आरोपी सुनील जोशी की गिरफ्तारी से पहले ही मौत हो चुकी है।