अजय शिर्के दोबारा चुने गए बीसीसीआई सचिव

मुंबई। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की 87वीं वार्षिक आम सभा (एजीएम) में बुधवार को भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विकेटकीपर एम.एस.के. प्रसाद को मुख्य चयनकर्ता चुना गया। जबकि, अजय शिर्के दोबारा सचिव चुने गए हैं। शिर्के को निर्विरोध बोर्ड का सचिव चुना गया। इस पद के लिए किसी और ने आवेदन नहीं किया था। बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने बैठक की अध्यक्षता की।

ajay-shirke

जुलाई में ठाकुर के बोर्ड का अध्यक्ष चुने जाने के बाद शिर्के को सचिव पद की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। तत्कालीन बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) का चैयरमेन चुने जाने के बाद ठाकुर ने अध्यक्ष पद संभाला था। शिर्के महाराष्ट्र क्रिकेट संघ (एमसीए) के अध्यक्ष भी हैं।

नई पांच सदस्यीय चयनसमिति का चयन भी किया गया। इनमें प्रसाद (दक्षिण क्षेत्र), पूर्व ऑफ स्पिनर सरनदीप सिंह (उत्तर क्षेत्र), गगन खोड़ा (मध्य क्षेत्र), देवांग गांधी (पूर्वी क्षेत्र), जतिन परांजपे (पश्चिमी क्षेत्र) शामिल हैं। गांधी, परांजपे और सरनदीप समिति में नए सदस्य हैं। प्रसाद, संदीप पाटिल की अध्यक्षता वाली समिति में भी शामिल थे। उन्होंने पाटिल की जगह ली है।

प्रसाद ने भारत के लिए 1998 एवं 2000 के बीच छह टेस्ट और 17 एकदिवसीय मैच खेले थे। 1998 में बांग्लादेश के खिलाफ एकदिवसीय मैच से उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था। 1999 में न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। साल 2000 में उन्हें टेस्ट टीम से हटा दिया गया। इसके बाद उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में हिस्सा नहीं लिया।

प्रसाद ने 96 प्रथम श्रेणी मैच खेले जिसमें उन्होंने 27.73 की औसत से 4,021 रन बनाए और विकेट के पीछे 266 शिकार किए। उन्होंने 88 लिस्ट-ए मैचों में 1,719 रन बनाए हैं। उन्हें 2007-2008 रणजी सत्र में आंध्र प्रदेश टीम का कप्तान बनाया गया था। 2008 में उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। 2015 में वह चयनसमिति का हिस्सा बने। प्रसाद ने अंडर-19 टीम की चयनकर्ता के रूप में भी काम किया है। पूर्व गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद को राष्ट्रीय जूनियर टीम की चयनसमिति का अध्यक्ष बनाए रखा गया है। जूनियर चयन समिति में आशीष कपूर और अमित शर्मा को भी जगह मिली है।