लोकसभा में गूंजा जेएनयू छात्र के मौत का मामला, अन्नाद्रमुक नेताओं ने किया हंगामा

नई दिल्ली। जेएनयू छात्र के मौत का मामला आज लोकसभा में जमकर गूंजा। जेएनयू के छात्र मुथु कृष्णन के मौत के मामले को लेकर लोकसभा में अन्नाद्रमुक के नेताओं ने सदन में खूब हंगामा किया और कार्यवाही को स्थगित करने की मांग की। अमेरिका में भारतीयों पर हमले के बारे में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बयान के बाद अचानक अन्नाद्रमुक सदस्य खड़े होकर सदन की कार्यवाही स्थगित करने की मांग करने लगे।

अन्नाद्रमुक सदस्यों ने कहा कि मुथु कृष्णन की मौत जाति भेद एवं दलित के प्रति भेदभाव की भावना के कारण हुई है। उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्रालय तथा दिल्ली पुलिस से मामले की जांच करने की मांग की तथा कहा कि मुथु के पिता श्री जीवनंदम् ने मामले की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने की मांग की है। इस पर जवाब देते हुये संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा कि मुथु की मौत से पूरा सदन दुःखी है। एम्स में उसका पोस्टमॉर्टम हो रहा है तथा दिल्ली पुलिस मामले की जांच कर रही है।

तमिलनाडु के रहने वाले एवं जेएनयू में एमफिल के 28 वर्षीय छात्र मुथु का शव 13 मार्च को मुनिरका में उसके एक दोस्त के घर पर पंखे से लटका मिला था। पृथमदृष्टया यह आत्महत्या का मामला माना गया, लेकिन परिजन इसमें साजिश का आरोप लगा रहे हैं। संसदीय कार्यमंत्री के जवाब एवं अध्यक्ष के समझाने-बुझाने के बाद हंगामा थम गया और सदन की कार्यवाही निर्बाध जारी रही।