प्यार में उम्र तो नहीं डाल रही दरार, सोच समझ कर लें फैसला

नई दिल्ली। इस दुनिया में प्यार के एहसास को बेहद खूबसूरत माना गया है। कहते हैं जिसकों प्यार मिल गया उसे सबकुछ मिल गया। आज भले ही प्यार को कमीना, बद्त्तमीज और आवार कहा जाता हो, लेकिन असल में तो प्यार इबादत का दूसरा नाम है।

 

कई बार प्यार का अलग ही रुप देखने को मिलता है। वैसे तो कहा जाता है कि ना उम्र की सीमा हो ना जन्म का हो बंधंन जब प्यार करे कोई तो देखे केवल मन, लेकिन आज जब लोग प्यार करते है तो समाज सकई तर ह के सवाल उठाता है। कई बार ऐसा होता है कि कपल्स के उम्र में बहुत ज्यादा फासला होता है। ज्यादातर लोगों को लगता है कि किसी उम्रदराज शख्स से शादी करने के पीछे उस व्यक्ति के पैसे और रॉयल लाइफस्टाइल वजह होती है, लेकिन जरूरी नहीं है कि हकीकत में ऐसा ही हो।

अगर आप किसी से प्यार करते हैं तो उसके पीछे कोई स्वार्थ छिपा हो ये जरुरी नहीं है। ये भी हो सकता है कि आपकी शादी अपने हमउम्र से हो , लेकिन आपमें प्यार और सामंजस्य नहीं बैठ रहा हो। इसमें तो कोई दो राय नहीं है कि उम्रदराज व्यक्ति के साथ आपके संबंध आपकी जिंदगी पर बूरा असर भी डाल सकते हैं।

अगर उम्र में ज्यादा अंतर हो तो आपके बच्चे और शादी-शूदा जिंदगी पर भी असर पड़ेगा।उम्र किसी रिश्ते में प्यार से बढ़कर नहीं होती है। अगर आप दोनों के मन में एक दूसरे के प्रति प्यार, विश्वास है, और आप दोनों एक दूसरे को बराबर का सम्मान देते हो तो आपके रिश्ते में कभी भी कड़वाहट नहीं आएगी।