चुनाव नतीजे आते ही ऑक्सीजन पर चली जायेगी सपा: मायावती

बलिया। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने बलिया में अपनी चुनावी सभा में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) और केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि चुनाव के नतीजे आते ही सपा ऑक्सीजन पर चली जाएगी और इसमें कुछ कमी रही तो उसे अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव पूरा कर देंगे।

मायावती ने कहा कि मुलायम ने पुत्रमोह में शिवपाल सिंह यादव को अपमानित किया। इसलिए सपा के दोनों खेमे में अंदर ही अंदर एक-दूसरे को हराएंगे, जिससे सपा का बेस वोट ही बंटकर रह जाएगा। मायावती ने कहा कि इसलिए मुस्लिम समाज को भी एकतरफा वोट बयवस को देना है, जिसका अपना दलित बेस वोट पूरी तरह एकजुट है और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को हराने के लिए सक्रिय और तत्पर है। उन्होंने कहा कि इस वोट में विशेषकर मुस्लिम समाज का वोट जुड़ जाने से भाजपा को इसका जबर्दस्त नुकसान पहुंच जाएगा और वह प्रदेश की सत्ता पर किसी भी कीमत पर काबिज नहीं हो सकती है।

मायावती ने एक बार फिर कहा कि सपा सरकार बसपा की योजनाओं को ही आगे बढ़ा रही है। उन्होंने कहा कि बड़ी चालाकी से इन योजनाओं को नाम बदल दिया गया। उन्होंने सपा सरकार की कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठाए और कहा कि सरकार में थोक के भाव अधिकारी बदलने के बाद भी स्थित नहीं सुधरी।

मायावती ने कहा कि सपा सरकार में हत्या, अपहरण, महिलाओं पर अत्याचार और उत्पीड़न, गुण्डाराज, जमीन पर कब्जे, सांप्रदायिकता, दंगे, तनाव आदि की घटनाएं चरम पर हैं। इस सरकार के चलते प्रदेश में घोर असुरक्षा और आतंक का माहौल हावी है। विकास के कार्य भी आधे अधूरे किये जाते रहे हैं। उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने प्रदेश की जनता के अरबों रुपये अकेले मीडिया में खर्च कर दिए हैं जबकि इसी धन को गरीबों के हित और कल्याण के कार्यों पर भी खर्च किया जा सकता था। विकास और जनहित के जो भी थोड़े कार्य हुए, उनमें से अधिकतर बड़े कार्यों की शुरुआत बसपा सरकार के दौरान ही कर दी गयी थी।

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि जिस सपा को अराजक, आपराधिक, सांप्रदायिक, भ्रष्टाचारी और जंगलराज आदि का खास प्रतीक माना जाता है, उसके साथ कांग्रेस भी गठबंधन में चुनाव लड़ रही है। ऐसी स्थिति में अब यहां प्रदेश की आम जनता को तय करना है कि क्या वह सपा-कांग्रेस गठबंधन के दागी चेहरे को वोट देगी या इसके स्थान पर इन सभी तत्वों का सफाया कर हर स्तर पर कानून का राज करने वाली बसपा के ‘बेदागी’ चेहरे को अपना वोट देगी।

मायावती ने कहा कि वहीं अगर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) किसी तरह प्रदेश की सत्ता में आती है तो वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का एजेण्डा लागू करेगी और आरक्षण समाप्त कर देगी। मायावती ने कहा कि यह बात उन्हें कुछ विश्वस्त सूत्रों से पता चली है। उन्होंने कहा कि आम जनता में सपा और भाजपा को लेकर बहुत नाराजगी है। वहीं भाजपा तो सीएम पद के लिए चेहरा तक नहीं घोषित नहीं कर पायी।