कश्मीर में प्रदर्शनकारी की मौत के बाद तनाव

श्रीनगर। श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर देर मंगलवार एक प्रदर्शनकारी तथा एक बैंक गार्ड की मौत के बाद बुधवार को घाटी में तनाव बढ़ गया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, “पुलवामा जिले के लेथपोरा में रविवार को भीड़ ने जिला विकास आयुक्त (रामबन) के वाहन पर हमला कर दिया था, जिसके बाद सुरक्षाकर्मी ने गोली चला दी। इस घटना में एक नागरिक की मौत हो गई, जबकि एक अन्य गंभीर रूप से घायल हो गया।”

Kashmir Curfew

श्रीनगर शहर के चट्टाबल इलाके में रात को एक बैंक एटीएम गार्ड की रहस्यमय परिस्थितियों में हत्या कर दी गई। पुलिस ने कहा कि गार्ड पर हमला कर उसकी किसी धारदार हथियार से हत्या की गई है। प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने बुधवार को चट्टाबल इलाके में नारेबाजी की। उन्होंने आरोप लगाया कि गार्ड की गोली मार कर हत्या की गई।

अधिकारियों ने कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए दक्षिण कश्मीर इलाकों में कर्फ्यू और प्रतिबंध लगा रखे हैं। श्रीनगर में बढ़ते तनाव को देख बुधवार को पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों की तैनाती की गई है। अलगाववादियों ने पांच अगस्त तक राज्य में बंद का आह्वान किया है और स्थानीय लोगों से शाम छह बजे के बाद सामान्य गतिविधियां शुरू करने को कहा।

सुरक्षा बलों के साथ आठ जुलाई को हुई मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से अलगाववादियों के बंद के आह्वान को 25 दिन बीत चुके हैं। स्वास्थ्य, जल आपूर्ति, बिजली, खाद्य आपूर्ति, पुलिस और अन्य सेवाओं को छोड़कर रेल सेवा, शैक्षिक संस्थान, बैंक, डाकघर और सरकारी कार्यालय पिछले 24 दिनों से बंद हैं। हालांकि, पिछले दो दिनों से कुछ सरकारी और शैक्षिक संस्थान के सदस्यों का काम हो रहा है।