नोटंबदी के बाद भाजपा नेताओं के पास कहां से आया धन: किशोर उपाध्याय

हरिद्वार। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने प्रधानमंत्री व इंटेलिजेंस एजेंसियों पर बड़ा हमला बोला। आईबी का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि केंद्रीय एजेंसियों की गाड़ियों से भाजपा ने उम्मीदवारों को कैश पहुंचाया और चुनाव में शराब व धन का जमकर उपयोग कर आचार संहिता का उल्लंघन किया।

उन्होंने कहा कि बिना अनुमति के पीएम की जनसभा होने पर दस फरवरी को मंच पर मौजूद रहे केंद्रीय मंत्री, सांसद व अन्य नेताओं के खिलाफ भी आचार संहिता उल्लंघन के आरोप में मुकदमा दर्ज होना चाहिए। वहीं नोटबंदी के बाद भाजपा नेताओं के पास इतना धन कहां से आया, इसकी भी न्यायिक जांच कराई जाए। भाजपा ने चुनाव में हजारों करोड़ रुपया पानी की तरह विज्ञापन व जनसभाओं पर बहाया। जिसके चलते भाजपा की जांच होनी चाहिए कि नोटबंदी के पास इतना रुपया उनके पास कहां से अया।

कांग्रेस मुखिया आज यहां मध्य हरिद्वार स्थित एक रेस्टोरेंट मे पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे और कहा कि दस फरवरी को पीएम नरेंद्र मोदी ने बिना अनुमति के हरिद्वार में जनसभा की। प्रधानमंत्री को जनसभा के बारे में पूरी जानकारी के बाद ही आना चाहिए था। इस मामले पर चुनाव आयोग कार्रवाई नहीं करता है तो माना जाएगा कि आयोग केंद्र के दबाव में है।

उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर मामले को विधानसभा में भी उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि नैतिकता की बात करने वाले पीएम माफी मांगें। किशोर ने कहा चुनाव में अनुमति के बाद भी उनकी कार तीन बार चेक की गई। इसके अलावा सीएम के हेलीकॉप्टर व कार की भी जांच हुई। वहीं केंद्र सरकार के 14 मंत्रियों के हेलीकॉप्टरों की जांच नहीं हुई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूर्ण बहुमत के साथ प्रदेश में दोबारा हरीश रावत के नेतृत्व में सरकार बनाएगी। इस अवसर पर राज्यमंत्री डा. संजय पाली, कांग्रेस महानगर अध्यक्ष अंशुल श्रीकुंज आदि उपस्थित थे।