शराबबंदी से घरों में लौट रही है खुशहाली : नीतीश

गोपालगंज। राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को थावे के अत्याधुनिक भव्य प्रखंड सह अंचल कार्यालय का उद्घाटन किया । साथ ही लछवार पंचायत में जाकर सात निश्चय कार्यक्रम के तहत की जा रही विकास योजनाओं से भी लोगों को अवगत कराया। मंगलवार को मुख्यमंत्री थावें गृह रक्षा वाहिनी के मैदान में उतरने के बाद यहां से सीधे थावे के नवनिर्मित प्रखंड कार्यालय पहुंचे। सीएम ने यहां प्रखंड सह अंचल कार्यालय का उद्घाटन किया । उसके बाद सड़क मार्ग से ही वे थावे के लछवार पंचायत पहुंचे। यहां नीतीश पंचायत के वार्ड संख्या दो में दलित बस्ती पहुंचे। यहां एक-एक परिवार से मिलकर धरातल पर चल रही सात निश्चय कार्यक्रम के तहत 4 योजनाओं की हकीकत देखी।

मुख्यमंत्री ने हर घर नल का जल, घर घर पक्की गली नाली, हर घर बिजली और शौचालय एक-एक चीजों का बारीकी से अध्ययन किया और गांव के हर परिवार से मिलकर उनकी समस्या भी सुनी। यहां उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव जैसे ही मंच पर भाषण देने पहुंचे तभी एक महिला काला झंडा लेकर हवा में लहराने लगी । महिला सफाई कर्मी थी और उसकी शिकायत यह थी की उसे कई माह से काम करने के बावजूद मानदेय नहीं दिया गया है। हालांकि मौके पर पहुंचकर जिला प्रशासन ने हंगामा कर रही महिला को समझा-बुझाकर शांत कराया।

बाद में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में शराबबंदी के बाद नशामुक्ति की बारी है और बिहार को नशामुक्त प्रदेश बनाया जायेगा। नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में शराबबंदी के बाद प्रदेश में कपड़े की बिक्री 44 फीसदी बढ़ गयी। जब की सिलाई मशीन की बिक्री 19 फीसदी बढ़ गयी है। यहां बदलते बिहार की तस्वीर है। शराबबंदी के अब बाद लोगों के घरो में खुशहाली लौट रही है।

उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कुमार ने कहां कि हमारा निश्चय यात्रा का उद्देस्य सिर्फ बिहार की बागडोर युवाओं के हाथ में देने और कौसल विकास योजना का पूरा लाभ देने डॉक्टर इंजीनियर तथा कई अन्य क्षेत्रों में युवाओं की भागीदारी और सरकार द्वारा चलाये गये योजनाओ का निरीक्षण करना ही इस यात्रा का उद्देश्य हैं ।