10 सालों की तुलना में पंजाब में बढ़ी लड़कियों की संख्या

चंडीगढ़। 8 मार्च को पूरी दुनिया में महिला दिवस के तौर पर मनाया जाता है और इसी दिन एक सर्व के अनुसार इस बात का खुलासा हुआ है कि पंजाब ने बेटियों को बढ़ाने में हरियाणा और दिल्ली सहित कई राज्यों को पीछे छोड़ दिया है।

दरअसल नेशनल फेमिली हेल्थ सर्वे के अनुसार साल 2015016 की रिपोर्ट में 1000 लड़कों के मुकाबले 860 लड़कियों की जन्म दर बताई गई है जबकि 2005 में ये दर 734 की थी। इसके साथ ही इस रिपोर्ट में कहा गया है कि बीते 10 सालों की तुलना में पंजाब में लड़के और लड़कियों के लिंगानुपात में 126 प्वाइंट की बढ़ोत्तरी हुई है। इस दिशा में करीब एक दशक पहले नवांशहर में पूरी गंभीरता के साथ चलाए गए जागरुकता अभियान को जाता है। हालांकि साल 2016 का आकंड़ा अभी पंजाब स्वास्थ्य विभाग की ओर से तैयार नहीं किया गया है।

जानिए कहां है कितना लिंगानुपात?

2005-06      2015-16
हरियाणा              760               836
पंजाब                  734               860
दिल्ली                 840              817
उत्तराखंड           912               888
जम्मू-कश्मीर      902              922
हिमाचल             913               936