अफगानिस्तान ने 250 पाकिस्तानियों को देश से निकाला

काबुल। अफगानिस्तान ने सीमा पर जारी तनाव के मद्देनजर 250 पाकिस्तानी कामगारों को देश से निकाल दिया है। चमन स्थित पाकिस्तान-अफगानिस्तान सीमा पर अब भी तनाव है। चमन सीमा द्वार लगातार 10वें दिन रविवार को भी बंद है। पाकिस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार, बाब-ए-दोस्ती द्वार 19 अगस्त को तब बंद कर दिया गया था, जब अफगान प्रदर्शनकारियों ने दोस्ती के इस द्वार पर हमला किया था और पाकिस्तान का एक झंडा जला दिया था।

afganistan.jpg 123

खामा प्रेस की रपट के मुताबिक, पाकिस्तान के एक अधिकारी ने कहा कि अफगानिस्तान ने पिछले 10 दिनों में 250 से अधिक मजदूरों को निकाल दिया है। इस मुद्दे को सुलझाने के लिए तथा इस द्वार को फिर से खोलने के कई प्रयास किए जा चुके हैं। नाटो की आपूर्ति एवं सीमा पार व्यापार भी स्थगित है। लगभग 15 हजार अफगानी हर दिन सीमा पार करते हैं, जबकि हर हफ्ते हजारों वाहन इस सीमा से गुजरते हैं। इससे यह एक महत्वपूर्ण व्यापार संपर्क मार्ग बन गया है।

इससे पहले, दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था। अफगानिस्तान के मुताबिक पाकिस्तान ने तोर्खम सीमा पर गेट लगाने का एकतरफा फैसला किया था। इससे पहले जून में अफगानिस्तान और पाकिस्तान के सुरक्षा बलों के बीच तोर्खम में गोलीबारी हुई थी, जिसके परिणाम स्वरूप लगभग एक हफ्ते तक गेट बंद रहा था।