जीएसटी की वजह से एसी बसों का सफर होगा महंगा

लखनऊ। सूबे में 30 जून की आधी रात से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने की वजह से रोडवेज की एसी बसों में सफर महंगा हो जाएगा। शुक्रवार को एसी बसों के एटीएम में नए किराए के दरों की फीडिंग की जाएगी।


उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (रोडवेज) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जीएसटी का असर रोडवेज की एसी बस सेवाओं पर पड़ेगा। ऐसे में रोडवेज की एसी बसों का सफर 30 जून की आधी रात से महंगी हो जाएगी। उन्होंने बताया कि एसी बसों की सभी सेवाओं में पांच फीसदी अतिरिक्त जीएसटी का चार्ज लगेगा। एसी बसों में जनरथ, शताब्दी, वोल्वो, स्कैनिया, महिला पिंक स्पेशल बसें शामिल होंगी। पांच फीसदी बढ़ा हुआ किराया 30 जून की आधी रात यानि एक जुलाई से लागू हो जाएगा। शुक्रवार को एसी बसों के एटीएम में नए किराए के दरों की फीडिंग की जाएगी।

जीएसटी वस्तु एवं सेवा कर देशभर में 1 जुलाई से लागू होने जा रहा है जीएसटी पर उठने वाले सवालों का जवाब देने के लिए केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली ने मीडिया से बातचीत की उन्होंने कहा कि जीएसटी की सबसे बड़ी खासियत है कि अब सारे टैक्स खत्म हो जाएंगे और देशभर में सिर्फ एक ही टैक्स लगेगा।

वित्त मंत्री अरुण जेटली के मुताबिक अलग-अलग राज्यों के अपने नियम होने के वजह से लोगों को टैक्स के नाम पर खासी परेशानियों का सामना करना पड़ता है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा उन्होंने कहा कि इससे शोषण हस्तक्षेप और भ्रष्ट्राचार पर लगाम लग सकेगी खास बात यह कि हर समान की कीमत देशभर में एक ही होगी।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि 1 जुलाई से वस्तु एवं सेवा कर जीएसटी लागू होने के बाद कीमतों में कमी आएगी इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि सरकार को एंटी प्राफिटियरिंग प्रोविजन का इस्तेमाल नहीं करना पड़ेगा। जेटली ने कहा कि जीएसटी को लेकर शुरुआत में कुछ मुश्किलें हो सकती है लेकिन उन्हें उम्मीद है कि कंपनियां जल्द ही इसके मुताबिक ढल जाएंगी।