यूपी परिवहन निगम लंबी दूरी में भी चलाएगा एसी बसें

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लंबी दूरी के मार्गों पर जहां रेल यातायात की सुविधा उपलब्ध नहीं है, उन क्षेत्रों में जरूरत के हिसाब से अनुबंधित वातानुकूलित स्लीपर बसों का संचालन जल्द किया जाएगा। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यूपीएसआरटीसी) के अधिकारी ए. रहमान ने बताया कि रेल के समानांतर एवं जहां रेल यातायात सुविधा उपलब्ध नहीं है, वहां क्षेत्रीय स्तर पर जरूरत की जांच कर अनुबंधित वातानुकूलित स्लीपर बसों के संचालन का प्रस्ताव दिया गया है।

UP Bus

रहमान के मुताबिक, ऐसी जगहों पर बसों के संचालन से यात्रियों को ओवरनाइट जर्नी की आरामदायक सुविधा उपलब्ध हो सकेगी, जिससे यात्री अपने गंतव्य स्थान पर बिना किसी थकान के पहुंच सकेंगे।

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम में अनुबंधित स्लीपर बस सेवा के लिए प्रस्तावित मार्गो में दिल्ली-लखनऊ, मेरठ-लखनऊ, लखनऊ-मुरादाबाद-देहरादून, आगरा-नोएडा-हरिद्वार, आगरा-अलीगढ़-हरिद्वार, कानपुर-लखनऊ-गोरखपुर, कानपुर-वाराणसी-शक्तिनगर, आजमगढ़-लखनऊ-दिल्ली, लखनऊ-बरेली-हल्द्वानी, झांसी-कानपुर-गोरखपुर हैं।

उन्होंने बताया कि इन मार्गो के अलावा यात्री उपलब्धता को देखते हुए स्लीपर बसों के लिए दूसरे रूट भी तय किए जा सकते हैं।