पीएम मोदी के विरोध में वारामसी की सड़कों पर उतर आम आदमी पार्टी

वाराणसी। प्रधानमंत्री के वाराणसी आगमन का शहर के आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं ने विरोध किया। शहर के इंगलिशिया लाइन चौराहे पर हाथों में काली पट्टी बांधकर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने मोदी जी वापस जाओ का नारा लगाया। इंगलिशिया लाइन चौराहे के चरों तरफ मार्च कर कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री गो बैक के नारे लगाए। वही कम्यूनिस्ट पार्टी के बैनर तले भी किसानो ने प्रधानमंत्री का विरोध किया। लेकिन कुछ समय के लिए मोदी के अर्थक और के कार्यकर्त्ता आमने-सामने हो गए और एक दूसरे के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते रहे। पीएम मोदी के समर्थकों ने आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के ठीक सामने कैंट स्टेशन के समीप मोदी के समर्थन में नारेबाजी की। और ये उग्र समर्थक आम आदमी पार्टी के खिलाफ दी जिससे माहौल तनावपूर्ण हो गया। मौके को गंभीरता से हुए पुलिस पहुची और किसी तरह दो पक्षो को शांत करवाया।

aap

नोट बंदी का दर्द सह रहे देश में प्रधानमंत्री नित्य नई जगहों पर करोड़ों रूपये खर्च करके सभाएं और उदघाटन कर रहे है। आम आदमी नोट बंदी से परेशान है और सरकार मस्त है। उक्त बातें इंगलिशिया लाइन चौराहे पर आम आदमी पार्टी द्वारा आयोजित विरोध प्रदर्शन में पूर्वांचल के आम आदमी पार्टी के संयोजक संजीव सिंह ने कही। उन्होंने आगे कहा कि नोट बंदी ने देश को बर्बाद कर दिया है। देश का विकास रुक सा गया है अर्थव्यवस्था निचले पायदान पर आ गयी है। प्रधानमंत्री ने किसानो से किये वादे को भी नहीं पूरा किया अलबत्त उनके ऊपर नोट बंदी का कहर डाल दिया। अमीरों को फायदा देने वाली इस सरकार में इस समय प्रधानमंत्री अमीरों के दलाल बने हुए है। हमारी मुख्य न्यायाधीश से मांग है कि स्वतः संज्ञान लेते हुए उनके ऊपर ह्त्या का मुकदमा चलायें। इस मौके पर मौजूद आप कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री गो बैक के नारे लगाये। कुछ देर के लिए उनकी पुलिस से नोकझोक भी हुई।

कम्यूनिस्ट पार्टी के बैनर तले निकले विरोध जुलूस में शामिल मनीष ने कहा कि नोट बंदी से देश के गरीब तबके का जीना मुहाल हो गया है। गरीब दाने दाने को मोहताज है। किसानो के पास बीज और खाद खरीदने का भी पैसा नहीं है। अन्नदाता खेतों की जगह बैंकों की लाइन में लगे है अगर यही हाल रहा तो आने वाले समय में देश में अनाज संकट भी गहरा जाएगा। आज हम सभी किसान भाइयों के साथ प्रधानमंत्री के काशी आगमन का विरोध कर रहे है।

सौरभ श्रीवास्तव, संवाददाता