कूड़े के ढ़ेर पर मिला लोगों की पहचान बताने वाला आधार कार्ड

हमीरपुर। केंद्र सरकार द्वारा भारत के नागरिकों के लिए आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया है। देश के तमाम हिस्सों में आधार कार्ड बनवाने के लिए जगह-जगह पर बूथ बनाएं जा रहे हैं। इसी बीच उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से आधार कार्ड के संबंध में ऐसी खबरें आ रही है जिसे सुनने के बाद हर कोई हैरान हैं।

सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिये बैंक रसोई गैस सहित अनेक विभागों व योजनाओं मे आधार कार्ड को अनिवार्य कर दिया गया है। आधार की अनिवार्यता को देखते हुए लोग लाइनों में लग कर आधार कार्ड के लिये पंजीयन करवाते हैं। पंजीयन के बाद आधार कार्ड डाक द्वारा लोगों के दिये हुए पते पर भेजा जाता है। किन्तु जब महीनों इंतजार करने के बावजूद लोगों को उनके आधार कार्ड प्राप्त नहीं होते तब वह कम्प्यूटर सेंटर से रुपये खर्च कर आधार की डुप्लीकेट कॉपी प्राप्त करते हैं। तब कहीं जाकर उन्हे आवश्यक सेवाओं का लाभ मिल पाता है।

लोगों के जहन में एक सवाल रहता था कि आखिर उनके आधार कार्ड उनके दिये हुए पते पर पहुंचे क्यों नहीं। इस बात का जबाब उस समय लोगों को नही मिला पर आज जब जनपद की राठ तहसील के मल्हौंवा रोड पर आधार कार्ड लावारिस हालत में नहर में पड़े पाये गये तो सनसनी फैल गयी, बताया जाता है कि यह आधार कार्ड डाक द्वारा लोगों के पते पर पहुंचाये जाने थे किन्तु डाक विभाग के किसी कर्मचारी ने घोर अनियमितता का परिचय देते हुए इन आधार कार्डों को नहर के किनारे फेंक दिया। डाक विभाग की लापरवाही से अनेक लोग अपना आधार कार्ड पाने से वंचित रह गये। नहर में आधार कार्ड पड़े होने की सूचना पाकर उपजिलाधिकारी राठ रामसुरेश वर्मा भी मौके पर पहुंचे तथा नहर में पड़े आधार कार्डों को इकठ्ठा कर अपने कब्जे में लिया।

उपजिलाधिकारी राम सुरेश वर्मा ने बताया कि प्रथमद्रष्टया यह डाक विभाग के किसी कर्मचारी की लापरवाही का मामला समझ में आ रहा है। मामले की जांच कराई जायेगी। लोगों का कहना है कि इसी प्रकार से आम जनता को ये सरकारी कर्मचारी गुमराह करते आए है लोग परेशान रहते है कि मेरा लेटर या कुछ भी लिखे हुए पते पर क्यों नही पहुँचता है शायद इसी प्रकार से ये कर्मी हम लोगों को गुमराह करते है। इस घटना की सूचना मिलने पर कस्बे के काफी लोग उस स्थान पर पहुँच गए जहाँ पर ये आधार कार्ड बिखरे पड़े थे। इसकी चर्चा नगर में चारो तरफ हो रही है। जिम्मेदार कर्मी के विरुद्ध कार्यवाई की उम्मीद भी लोग करने लगे है।

 सन्तोष चक्रवर्ती, संवाददाता