पंजाब में युवक की पीट-पीट कर हत्या हाथ पांव काटे, ड्रग्स बेचने का था आरोप

भटिंडा। पंजाब भटिंडा जिले में एक शख्स को ग्रामीणों ने बहुत ही बेरहमी से पीटा पीटने के बाद गांव वालों ने उसके हाथ पांव काट दिए। जिससे उस शख्स की मौत हो गई। गांव वालों का आरोप है कि वो गांव में ड्रग्स का कारोबार करता था। गांव वालों का ये भी कहना है कि आरोपी एक हफ्ते से जेल की सजा काट रहा था और हाल ही में जेल से छूटकर आया था।

बता दें कि ग्रामीणों का कहना है कि शख्स नशे का कारोबार करता था। वहीं आरोपी कुमार के परिवार वाले कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। मृतक के परिवार वालों का कहना है कि जब तक केस दर्ज नहीं हो जाता और मामले की जांच शुरू नहीं हो जाती तब तक वो शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। जहां एक तरफ गांव वालों का कहना है कि आरोपी कुमार नशे का कारोबार करता था और गांव की लड़कियों को छेड़ता था। वहीं दूसरी तरफ कुमार के घर वाले इस बात को झूठी साबित कर रहे हैं। घटना की असली वजह कुछ और ही सामने आई है।

कुमार के परिवार वालों का कहना है कि उसकी गांव के सरपंच के बेटे के साथ बनती नहीं थी। जिसका पर सरपंच के बेटे ने मौके का फायदा उठाकर उस पर हमला करया और उसकी बेरहमी से पीटाई की गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने कुमार को अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन गांव वालों का गुस्सा शांत नहीं हुआ और उन्होंने अस्पताल के बाहर नारेबाजी की। वहीं कुछ घंटों के बाद कुमार की मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि केस दर्ज कर लिया गया है और पुलिस मामले की जांच में जूट गई है।

साथ ही अगर पंजाब की बात करें तो कुमार की मौत ने पंजाब की दूकती रग पर हाथ रख दिया है क्योंकि पंजाब में ड्रग्स करने वाले युवा 25 से 35 उम्र के हैं। नशे को लेकर एक तरफ पंजाब पुलिस का कहना है कि वो नशे के खिलाफ अभियान चला रही है। लेकिन जिस तरह से कुमार जैसे मामले सामने आ रहे हैं कि वो नशे का कारोबारी था उससे उठने वाले सवालों को कोई कैसे नज़र अंदाज कर सकता है। जो पंजाब के लिए एक चुनौती के समान है।