7 साल के मासूम की हत्या :मेरठ

उत्तर प्रदेश मे हाल ही मे बनी योगी सरकार के बनते ही बडे-बडे जनपदो मे लगातार अपहरण, हत्या और लूट की वारदात लगातार प्रकाश मे आ रही है, ऐसा ही एक और मामला फिर से मीडिया के सामने तीन हजार रूपयों के लिए 7 साल के मासूम की किडनैप कर हत्या कर दी गयी है। काफी छान बीन और तफ्तीश करने पर मासूम की लाश किडनैप होने के 14 घंटों बाद खेत में पड़ी मिली है। हत्या से आक्रोशित लोगो ने एक आरोपी को पकड़कर उसे जान से मारने की कोशिश की है और दो आरोपियो के घरों में आग लगा दी।

पूरा मामला मेरठ के अम्हेड़ा गाँव से 5 जून की शाम नितिन गिरी का बेटा देवा (7) अचानक गायब हो गया। पुलिस को बच्चे की गुमशुदगी की खबर दी गयी। लेकिन खाकी वर्दी वाले जो अपने आप को पुलिसवाला बताते है, वह भी अब तक मासूम देवा का सुराग नही तलाश पाये। आज सुबह जब सूरज निकला तो देवा की लाश बुरी तरह जख्मी हुई गाँव के नजदीक एक ज्वाँर के खेत में पड़ी हुई मिली तो पता चला कि कातिलो ने देवा को गला दबाकर मार डाला था। मौके पर पुलिस पहुँचती लेकिन उससे पहले ही गाँव के गुस्साये लोगो ने वारदात में शामिल एक आरोपी सतीश को दबोच लिया और उसकी जमकर पिटाई कर दी। भीड़ सतीश का कत्ल करना चाहती थी, लेकिन मौके पर पहुँची पुलिस ने सतीश को भीड़ से आजाद करा कर खुद की गिरफ्त में ले लिया।

देवा की हत्या के पीछे उसके पिता और कातिलों के बीच 3 हजार रूपये का पुराना विवाद था। देवा का पिता भी एक शातिर बदमाश है हाल ही मे वह 5 जुन को वह जेल से छुटकर आया था। बताया जाता है उसके बदमाश साथियों से उसका 3 हजार रूपयों को लेकर झगड़ा हुआ, जो सतीश और उसके दो साथियों ने नितिन की गैरमौजूदगी में उसके पिता से उधार ले लिये थे। 5 जून को सुबह इसी रकम को लेकर विवाद हुआ और नितिन ने अपने ही एक साथी को थप्पड़ मार दिया। इसके बाद आरोपी नितिन को भुगतने की धमकी देकर चले गये और फिर सतीश और उसके साथियों ने शाम को देवा का अपहरण कर लिया, और उसके बाद हत्या कर दी गई। देवा के कत्ल के बाद भीड़ ने दो आरोपियों के घरों में आग भी लगा दी। खुशकिस्मती से घर के लोग किसी तरह बच गये लेकिन लाखों के माल का नुकसान हो गया। पुलिस देवा के कातिलों पर केस दर्ज करके कार्यवाही करने और जेल भेजने का आशवासन दिया। और उसके अलावा अराजकता फैलाने वाली भीड़ के खिलाफ भी केस दर्ज कर रही है।