लोक अदालत में 284 मामले निपटे, 1.62 करोड़ के अवॉर्ड पारित

दतिया। ‘मिलजुल कर हो मामलों का अंत, यही है लोक अदालत का मूल मंत्र’ इस परिकल्पना को साकार करते हुए राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के आदेशानुसार जिला न्यायाधीश सुनीता यादव के मार्गदर्शन में दतिया जिले में भी शनिवार को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया।

बता दें कि सुबह 10:30 बजे से शाम को छह बजे तक चली इस नेशनल लोक अदालत में निराकरण के लिए करीब 3000 प्रकरण प्रस्तुत किए गए, जिनमें से कुल 284 प्रकरणों का निराकरण कर एक करोड़ 62 लाख 68 हजार 945 की अवॉर्ड राशि द्वारा 429 व्यक्तियों को लाभान्वित किया गया।

वहीं नेशनल लोक अदालत में मोटर दुर्घटना के 12 मामलों में 7025000 का अवॉर्ड पारित किया गया। न्यायालीन प्रकरणों में चार सिविल मामलें 44 आपराधिक 32 मामले विद्युत विभाग के लंबित प्रकरणों का निराकरण किया गया। विद्युत विभाग के 76 नगर पालिका के 57 बैंक के 18 प्रिलिटिगेंश मामलों का निराकरण किया गया। नेशनल लोक अदालत के सफल आयोजन में न्यायालय के सभी न्यायाधिकारियों, कर्मचारियों का सकारात्मक सहयोग प्राप्त हुआ तथा न्याय सबके लिए की अवधारण को भलीभांती चरितार्थ करते हुए दतिया जिले में नेशनल लोक अदालत का सफल आयोजन मामलों को कम करने की दिशा में सार्थक रहा।