बिहार में 25 पुलिसकर्मियों का तबादला, मंत्रियों के अंगरक्षकों का भी ट्रांसफर

बिहार। देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए आए दिन प्रयास किए जा रहें हैं। आए दिन पुलिस महकमें में फेरबदल किया जा रहा है। जिससे कानून व्यवस्था को बेहतर बनाया जा सके। इसी कड़ी में अब बिहार का नाम भी शामिल हो गया है। बिहार में चार जमादार तथा दो हवलदारों समेत 25 पुलिस कर्मियों का स्थानांतरण कर दिया गया है। स्थानांतरित पुलिस कर्मियों को एसपी अनुसूईया रणसिंह साहू ने विरमित कर दिया है। स्थानांतरित किये गए पुलिस कर्मियों में मंत्री, विधायक, डीएम तथा प्रमंडलीय आयुक्त के अंगरक्षक भी शामिल हैं।

एसपी ने बताया कि स्थानांतरित किये गए पुलिस अधिकारियों को संबंधित जिले में योगदान करने हेतु विरमित कर दिया गया है। इसमें जिला अभियोजन कार्यालय के सहायक अवरनिरीक्षक रामचंद्र राम, मढौरा थाने के सहायक अवर निरीक्षक हरेंद्र कुमार, पुलिस केंद्र के सहायक अवसर निरीक्षक ब्रजभूषण सिंह, नगर थाना के सहायक अवर निरीक्षक जर्नादन राय, सदर कोर्ट के हवलदार राजीव रंजन चौधरी, पुलिस अधीक्षक कार्यालय के हवलदार जयकांत मंडल, जिला एवं सत्र न्यायधीश के अंगरक्षक अनिल कुमार तिवारी, परिवहन मंत्री चंद्रीका राय के अंगरक्षक सुभाषचंद्र प्रसाद यादव, मढौरा विधायक जितेंद्र राय के अंगरक्षक मुख्तार राम, प्रमंडलीय आयुक्त के अंगरक्षक राजेंद्र प्रसाद सिंह, पुलिस अधीक्षक गोपनीय शाखा के घनश्याम कुमार, पुलिस केंद्र के प्रदीप कुमार, सुनिल कुमार सिंह, डाटाबेस कार्यालय के मुरारी कुमार, कुंदन कुमार सिंह, एसपी गोपनीय शाखा के मो. अताउर रहमान, डीएम के अंगरक्षक राजेश कुमार सिंह, सामान्य शाखा के सिपाही अरूण कुमार यादव, भगवान बाजार थाना टाईगर मोबाइल के सिपाही जयनारायण यादव, मंडल कारा के गार्ड अजय कुमार, टाइगर मोबाइल भगवान बाजार थाना के सिपाही आशीष कुमार, सदर एसडीपीओ के अंगरक्षक राजनारायण प्रीतम, पुलिस केंद्र के सिपाही सुमित कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक के अंगरक्षक अजय कुमार शामिल हैं।

पुलिस अधीक्षक का संबंधित मामले में कहना है कि स्थानांतरित किए गए पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से जिला पुलिस केंद्र में योगदान करने तथा स्थानांतरित जिले के लिए प्रस्थान करने का निर्देश दिया गया है। गौरतलब करने वाली बात यह है कि देश के सबसे बड़े सूबे में योगी सरकार आए दिन पुलिस महकमें में फेर बदल कर रही है। यहां कानून  व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए आए दिन योगी सरकार कोई ना कोई कदम उठा रही है। ऐसे में अगर देखा जाए तो बिहार में भी कानून व्यवस्था में फेरबदल करने की जरूरत है। क्योंकि यहां पर भी कानून व्यवस्था खस्ता हालत में पड़ा हुआ है।nb hjbmhjbmhb