बिना भेदभाव के प्रदेश को देंगे 24 घंटे बिजली: सीएम योगी आदित्यनाथ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में शुक्रवार को आयोजित ऊर्जा विभाग के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 580.31 करोड़ की योजनाओं का लोकापर्ण किया। इस दौरान सीएम ने कहा कि 100 दिन में हमारी सरकार ने जितने काम किए उतने 10 साल में भी नहीं हुए। पहले की सरकारें जनता से भेदभाव करती थीं। केवल पांच जिलों में चौबीस घंटे बिजली दी जा रही थी। हम जाति धर्म और रंग रूप का भेदभाव नहीं करेंगे। योगी का कहना है कि सरकार कोई अहसान नहीं कर रही। ये जनता का अधिकार है जो उसे मिलना चाहिए। सरकार एक समान रूप से बिजली देने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि हम चौबीस घंटे बिजली देंगे। इस दौरान योगी ने शहरी बीपीएल परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन देने सहित ई-निवारण ऐप का भी शुभारंभ और 220/132 केवी के 10 नए विद्दुत उपकेन्द्रों का लोकार्पण भी किया।

बता दें कि मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार विद्दुतीकरण की कई योजानाएं लाई। नए विद्युत सब स्टेशन बनने पर भी योजनाएं बनी। पिछली सरकारों ने जो बिजली एग्रीमेंट किये उससे जनता पर पांच हजार करोड़ का बोझ पड़ता। हमने ऐसे बेकार एग्रीमेंट रद्द किए। योगी ने कहा कि 100 दिनों में हमारी सरकार ने साढ़े 18 हजार घरों में बिजली पहुंचा दी है। उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना की तरह जैसे हर घर में गैस कनेक्शन होगा, वैसे ही प्रदेश के हर एक घर में बिजली कनेक्शन होगा। 60 लाख गरीबों को निशुल्क बिजली कनेक्शन देंगे। सीएम ने कहा कि बिजली का कनेक्शन सिर्फ बिजली नहीं देता, बल्कि आपको एक जरूरी पहचान का प्रमाण पत्र भी देता है। कनेक्शन लेने के बाद मीटर जरूर लगवाएं। प्रधानमंत्री की मंशा है कि हर परिवार में अपना कनेक्शन हो।

अंधेरा दिखते ही समझ जाता यूपी की शुरुआत हो गई

सीएम ने कहा कि मैं पहले हेलीकॉप्टर से चलता था, तो अंधेरा दिखाई देते ही समझ जाता था कि उत्तर प्रदेश की शुरुआत हो गई। पहले रात में बिजली नहीं रहती थी लेकिन अब ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि घोषणा, भाषण और नारों से व्यवस्थाएं आगे नहीं चल सकती। हम सभी को बिजली उपलब्ध कराएंगे। आप विकास चाहते हैं, पलायन रोकना चाहते हैं, नए उद्योग धंधे लाना चाहते हैं, इसके लिए हम सब को सामूहिक प्रयास करना होगा। जहां लाइन लॉस 10 प्रतिशत से कम आएगा वहां 24 घंटे बिजली देंगे।

योगी सरकार ने किया ई-निवारण मोबाइल एप लॉन्च

लखनऊ के 100 गरीब परिवारों को मुफ्त कनेक्शन देकर सीएम योगी ने इसकी शुरुआत की। आयोजन में ई-निवारण मोबाइल एप भी लॉन्च किया गया। इस एप के जरिए उपभोक्ता मोबाइल फोन पर ही अपना बिजली का बिल बना सकेंगे, देख सकेंगे और जमा भी कर सकेंगे। टोल फ्री नंबर 1912 पर या एसएमएस के जरिए शिकायत दर्ज कराने वाले उपभोक्ता भी इस एप से सुनवाई की स्थिति पता कर सकेंगे।

इस मौके पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि हम बीपीएल परिवारों को बिजेली कनेक्शन देने जा रहे हैं लेकिन उन सबको बिजली का बिल देना होगा। हमारा संकल्प है कि प्रदेश में कोई भी व्यक्ति अंधेरे में न रहे। जर्जर व्यवस्था को ठीक किया जा रहा है। जितनी भी अनियमितता है उसको दूर किया जा रहा है। मुख्यमंत्री का आदेश था कि गांव में पूरी बिजली मिले हमने 100 दिन में ही 8000 ट्रांसफार्मर अपग्रेड करके दिखाया। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि दो साल के अंदर ऊर्जा विभाग हर घर को रौशन करने के साथ साथ सबसे अच्छा विभाग खुद को साबित करके दिखाएगा। जितने भी सरकारी दफ्तर में वहा मीटर लगाकर बिजली बिल भुगतान की व्यवस्था करेंगे।