मेट्रो में फाइन से बचने के लिए युवक ने लगाई 30 फीट की उंचाई से छलांग

मुंबई। मेट्रो में एक अजीबो गरीब हादसा देखने को मिला है जिसमें एक शख्स ने अपने बेवाकूफ होने का सबूत दिया है। दरअसल एक शख्स ने मेट्रो में फाइन देने से बचने के लिए 30 फीट की उंचाई से छलांग लगा दी। लेकिन उस शख्स की किस्मत अच्छी थी कि वो बच गया। युवक के बचने पर हर कोई हैरान हे कि 18 साल की उम्र में 30 फीट की उंचाई से गिरने के बाद भी वो जिंदा बच गया। घटना बीते रविवार घाटकोपर मेट्रो स्टेशन की है। व्यक्ति मूल रूप से राजकुमार ओडिशा का रहने वाला है। जो टाइटल लगाने का काम करता है।

बता दें कि राजकुमार का कहना है कि वह साकी नाका स्टेशन से मेट्रो में चढ़ा है और घाटकोपर आया। जहां घाटकोपर पहुंचने पर जब उसने टोकन डाला तो ऑटोमैटिक फेयर कलेक्शन (AFC) गेट नहीं खुला। जिसकी वजह से उसने गेट से कुदना चाहा लेकिन तभी सुरक्षाबलों ने उसे पकड़कर सवाल जवाब करने शुरू कर दिए। इसके बाद वह टिकट एरिया के पिछले हिस्से में वापस आया लेकिन वहां मेट्रो कर्मचारियों ने उसे फाइन देने को कहा। कस्टमर केयर डिपार्टमेंट में ले जाते वक्त, नशे में धुत राजकुमार किसी भी तरह सुरक्षाकर्मियों की पकड़ से भागा और बाहर सड़क पर कूद गया जो कि तीन फ्लोर नीचे थी।

वहीं एक मेट्रो अधिकारी का कहना है कि वह नीचे सड़क पर कूदा और तुरंत ही आसपास के लोग वहां इकट्ठा हो गए। घाटकोपर पुलिस की मदद से उसे रात 9.15 बजे राजावडी अस्पताल पहुंचा गया।

इतनी ऊंचाई से गिरने की वजह से राजकुमार के एक घुटने में फ्रैक्चर आया और ठोढ़ी पर टांके आए। अस्पताल के एक कर्मचारी ने बताया कि राजकुमार खतरे से बाहर है। मेट्रो अधिकारी से जब यह पूछा गया कि टोकन खरीदने पर भी गेट क्यों नहीं खुला, अधिकारी इस पर कहा कि राजकुमार ने घाटकोपर के लिए टोकन खरीदा था लेकिन वह स्टेशन पर घूम रहा था। टोकन खरीदने के एक घंटे बाद यात्रा पूरी करना जरूरी है नहीं तो टोकन अमान्य हो जाता है। जिसकी वजह से गेट नहीं खुलता।

राजकुमार इसी साल जनवरी में मुंबई आया है और बोरिवली में रहता है। राजकुमार ने पहले कहा कि वह घाटकोपर किसी रिश्तेदार से मिलने आया है लेकिन बाद में उसने कहा कि वह यहां जगन्नाथ रथ यात्रा में हिस्सा लेने आया है।