11 विपक्षी सदस्य एक दिन के लिए तेलंगाना विधानसभा से निलंबित

हैदराबाद। तेलंगाना में विधानसभा की कार्यवाही बाधित करने के लिए शनिवार को 11 विपक्षी विधायकों को सदन से एक दिन के लिए निलंबित कर दिया गया। विधायी मामले के मंत्री हरीश राव के एक प्रस्ताव पेश किए जाने के बाद विधानसभा अध्यक्ष मधुसूदन चारी ने मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के 9 और तेलुगू देशम पार्टी (तदेपा) के 2 विधायकों को निलंबित कर दिया।

telangana-vidhan-sabha

विपक्षी सदस्य दल बदल कर तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) में शामिल होने वाले विधायकों को अयोग्य घोषित करने की उनकी मांग पर एक बहस के लिए जोर दे रहे थे। जब विधानसभा अध्यक्ष ने उनके स्थगन प्रस्ताव को खारिज कर दिया तो विपक्षी विधायक सदन के कूप में पहुंच गए। हंगामे के बीच मंत्री हरीश राव ने हंगामा करने वाले विपक्षी सदस्यों के एक दिन के निलंबन के लिए प्रस्ताव पेश किया। अध्यक्ष ने उनके निलंबन की घोषणा कर दी और उन्हें सदन छोड़ने के लिए कहा।

कांग्रेस नेता के.ए. जना रेड्डी ने निलंबन को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि पूर्व में बिना किसी चेतावनी के सदस्यों के खिलाफ इस तरह की कार्रवाई कभी नहीं की गई थी। विपक्षी पार्टियां दल बदलने वाले विधायकों की आयोग्यता के मामले में हो रही देर से नाखुश थे। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि मामला उनके विचाराधीन है और सदस्यों को उनके निर्णय का इंतजार करना चाहिए। बीते 2 साल में एक दर्जन से अधिक विपक्षी विधायक दल बदल कर टीआरएस में शामिल हो गए हैं।