पश्चिम बंगाल: एक और बच्चे की मौत का कारण बना ब्लू व्हेल गेम

मिदनापुर। दुनिया भर में ब्लू व्हेल गेम मौत का दूसरा नाम बन गया है। बच्चे तेजी से इस गेम की चपेट में आ रहे हैं। इसी गेम की चपेट में एक और छात्रा ने अपनी जान दे दी है। इस गम के आखिरी पड़ाव में 10वीं के एक और छात्र अनकन ने बाथरूम में जाकर आत्महत्या कर ली है। इसी गेम के चलते देहरादून में स्कूल प्रशासन ने पांच बच्चों को इसका चपेट में आने से बचाया था। जानकारी के मुताबिक दोनों ही बच्चों ने ब्लू व्हेल गेम खेला था।

student, suicide, blue whale game, west bengal, Midnapore
blue whale game

वहीं जिसमें गेम के मुताबिक उनको नुकसान पहुंचाने का चैलेंच दिया गया थ। अनकन के पिता का कहना है कि स्कूल से आते ही वो गेम खेलने में लग गया। जब उसकी मां ने उसे खाने के लिए बिलाया तो उसने कहा कि नहा कर खाएगा। उसके बाद वो नहाने चला गया लेकिन काफी देर तक जब वो बाहर नहीं आया तो मां-बाप ने बाथरूम का दरवाजा तोड़ दिया। उसके बाद बाथरूम का मंजर दिल दहला देने वाला था। बाथरूम में बच्चे की लाश पड़ी थी।

बता दें कि मां-बाप फौरन अनकन के हॉस्पिटल ले गए। लेकिन इलाज से पहले ही अनकन की मौत हो चुकी थी। अनकन को दोस्तों का कहना है कि उसने ब्लू व्हेल गेम खेला था। पुलिस मामले की जांच कर रही है। ब्लू व्होल गेम का वजह से अब तक 250 बच्चे अपनी जान गवा चुके हैं। इससे पहले मुंबई में एक 14 साल के लड़ने अपनी जान दे दी थी। मनप्रीत ने गेम के ईखिरी पड़ाव को पूरा करने के लिए अपने अपार्टमेंट की 7वीं मंजिल से कूद कर जान दे दी थी। मनप्रात के दोस्तों ने बताया था कि उसने सोमवार को स्कूल आने के लिए मना कर दिया था। क्योंकि उसे ब्लू व्हेल गेम खेलना था। मनप्रीत के मां-बाप का कहना थी कि उसके अंदर डिप्रेशन के कोई लक्षण नहीं थे।