ससुराल में विधवा महिला के साथ शादी का झांसा देकर देवर करता था दुष्कर्म

शाहजहांपुर। महिलाओं पर जुल्म करने के सबसे ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश से सामने आते रहे हैं हालांकि अभी तक ये भी कहा जाता रहा है कि सपा सरकार मे महिलाओं को ज्यादा जुल्म झेलनी पङा है। ताजा मामला यूपी के शाहजहांपुर का है जहां एक महिला को ससुराल वालों ने महिला के देवर के साथ जबरन दुष्कर्म करवाया गया। पीड़िता के पति की 6 साल पहले मौत हो चुकी थी। जिसके बाद ससुराल वालों नें देवर के साथ शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म करवाते रहे उसके बाद जब महिला ने शादी की बात की तो ससुरालियों और देवर ने उसको मारपीट कर घर से निकाल दिया। पीड़िता ने अपने साथ हुए जुल्म की शिकायत थाने मे की तो पुलिस ने आरोपी ससुरालियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। लेकिन मुकदमा दर्ज हुए तीन माह बीत चुके है लेकिन पुलिस ने अभी तक एक भी आरोपी को पकड़ना उचित नही समझा। अब आरोपियों के हौसले इतने बुलंद हो चुके है कि वह महिला को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। जिसके कारण महिला हिन्दू होने के बाद बाद बुर्का पहनकर खुद की सुरक्षा करने पर मजबूर हो गई है लेकिन पुलिस ने अभी तक आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। पीड़िता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से न्याय की गुहार लगाई है।

घटना जलालाबाद थाना क्षेत्र के खाई खेड़ा गांव की है। यहां की रहने वाली 35 वर्षीय महिला नीलम की शादी गांव के रहने वाले प्रेम चंद्र से हुई थी। शादी के बाद नीलम के दो बच्चे हुए। पीड़िता की माने तो उसके पति की 6 साल पहले बीमारी के चलते मौत हो गई थी। उसका पति खेतीबाड़ी करता था। उसकी बीस बीघा खेती है लेकिन उस जमीन पर उसके देवर और ससुराल वालों ने कब्जा कर रखा है। पीड़िता ने बताया कि उसके पति के मौत के बाद उसके सास ससुर ने देवर के साथ शादी का झांसा दिया और बगैर शादी कराएं उसका देवर उसको अपने पास रखता रहा और उसके साथ जबरन दुष्कर्म करता रहा। जब वह देवर सभी शादी की बात करती तो वह उसके साथ मारपीट करने लगता था और बच्चो को भी जान से मारने की भी धमकी देता था। करीब तीन माह पहले उसने शादी की बात अपने सास ससुर से की कि अब ज्यादा वक्त बीत चुका है देवर अरेंदर से शादी करवा दी जाए लेकिन शादी की बात सुनते ही उसके साब ससुर और देवर ने उसके साथ मारपीट करना शुरू कर दी और जान से मारने की धमकी देकर उसे घर में निकाल दिया। और बच्चो को सास ससुर और देवर ने अपने कब्जे में कर लिए।

घर से बेघर हुई महिला ने थाने मे अपने ससुराल वालों के खिलाफ शिकायत की जिसके बाद पुलिस ने ससुरालवालों के खिलाफ रेप और जान से मारने की धाराओं मे मुकदमा दर्ज कर लिया लेकिन मुकदमा दर्ज हुए तीन माह बीत चुके है पुलिस ने किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नही किया है। यही कारण है कि आरोपियों के हौसले इस कदर बुलंद है कि वह तीन माह से पीड़िता को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। पीड़िता दर दर की ठोकरें खा रही है लेकिन न्याय मिलने की उम्मीद कहीं से नही दिख रही है। पीड़िता ने अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से न्याय के गुहार लगाई है उसका कहना है कि नरेंद्र मोदी ने चुनाव से पहले कहा था कि सरकार बनते ही अपराधी जेल मे होंगे। लेकिन तीन माह से उसको जान से मारने की धमकी दी जा रही है क्या उसको अब नरेंद्र मोदी न्याय दिलाएंगे। क्या उनकी सरकार मे उस पर जुल्म करने वाले अपराधी जेल जाएंगे।

पीड़िता की माने तो हिन्दू होने के बावजूद वह बुर्का पहनकर घूमने को मजबूर है। क्योंकि तीन माह बीत चुके है आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुए लेकिन पुलिस ने किसी भी आरोपी को पकड़कर जेल नही भेजा है यही कारण है कि उनके हौसले बुलंद है और वह उसे लगातार जान से माने की धमकी दे रहे हैं। यही कारण है कि वह अपनी पहचान छुपाए घर से बाहर निकल रही है। यहां तक की थाने मे भी उसे बुर्का पहनकर ही जाना पङ रहा है। तीन माह बीत चुके है उसने अपने बच्चो को नही देखा है कि वह किस हाल मे है पीड़िता की माने तो उसे अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की न्याय की उम्मीद है। सीओ सुमित शर्मा का कहना है कि उनके संज्ञान में इस तरह का कोई मामला नही है। अगर इस तरह का कोई मुकदमा दर्ज है। और उस महिला के आरोपों मे सच्चाई होगी तो जरूर आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।

 -अभिषेक चौहान