लखनऊ में जमीन तलाशने में जुटी कांग्रेस

लखनऊ। विधानसभा चुनावों से पहले प्रदेश में अपनी जमीन तलाशने में जुटी कांग्रेस के दिग्गज नेता राजधानी में मौजूद होंगे। इस बैठक में प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी गुलामनबी आजाद से लेकर दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर और राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी और संजय सिंह समेत प्रदेश कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता जुटेंगे।

इसके अलावा, प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित बैठक में यूपी कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ उपाध्यक्षों, प्रदेश पदाधिकारियों, कार्यकारिणी सदस्यों, विशेष आमंत्रित सदस्यों, जिला व शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों एवं फ्रन्टल संगठन, विभाग, प्रकोष्ठों के प्रदेश प्रमुखों एवं प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के सभी पदाधिकारियों को विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में आमंत्रित किया गया है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता वीरेन्द्र ने बताया कि नोटबन्दी के सम्बन्ध में प्रधानमंत्री ने देश की जनता से 50 दिन का समय मांगा था परन्तु 50 दिन से अधिक दिन बीत जाने के बावजूद आज भी स्थिति ज्यों कि त्यों बनी हुई है। आम जनमानस बैंक एवं एटीएम की लाइन में खड़ा है। नोटबन्दी के विरोध में आयोजित जनआक्रोश आन्दोलन हेतु आगे की रणनीति तय किए जाने के उद्देश्य से ही यह बैठक आयोजित की गई है। इस बैठक में आगे की रणनीति तय की जाएगी।

27 सालों से सत्ता से दूर रही कांग्रेस इस बार फिर से उत्तर प्रदेश में अपनी जमीन तलाशने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस ने शीला दीक्षित पर दांव खेलते हुए उन्हें सीएम का उम्मीदवार बनाया है।