बिहार: शराब कंपनियों को एक और झटका, शराब निकालने के लिए वक्त देने से किया इंकार

पटना। बिहार की शराब कंपनियों को सुप्रीम कोर्ट से एक और बड़ा झटका लगा है कोर्ट ने बिहार की शराब कंपनियों को शराब निकालने के लिए और वक्त देने के लिए मना कर दिया है। हालांकि बिहार सरकार ने पहले ही सारी शराब नष्ट कर दी थी। सुप्रीम कोर्ट ने और वक्त देने से मना कर दिया है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि जो शराब बची है उसे भी सरकार नष्ट करे। जिसे लेकर शराब कंपनियां कोर्ट आई और उन्होंने कहा कि जो भी स्टॉक रह गया है उसे निर्यात करने की इजाजत दी जाए।

SC and bihar liquor
SC and bihar liquor

बता दें कि 29 मई को सुप्रीम कोर्ट ने सरकार के विरोध के बावजूद बिहार के गोदामों में रखी शराब निकालने के लिए 31 जुलाई तक की वक्त दिया था। बिहार सरकार की ओर से पेश वकील केशव मोहन ने अर्जी का विरोध करते हुए कहा था कि सरकार के 31 गोदामों में करीब 2 करोड़ 80 लाख बोतलें रखी गई हैं, जिनमें से सिर्फ 10 लाख बोतलें ही निकाली गई हैं। इस शराब के स्टॉक की सुरक्षा के लिए सरकार का हर महीने एक करोड़ रुपये खर्च हो रहे हैं। राज्य में शराब रखी होने की वजह से कानून व्यवस्था के खराब होने की आशंका है।