दिल्ली सरकार द्वारा भेजे गए एनएसआईटी विधेयक को एलजी ने किया वापस

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार और एलजी के बीच की जंग अब भी कायम है। पहले दिल्ली सरकार की तरफ से डीटीसी की बसों की फाइल और अब एनएसआईटी विधेयक को उपराज्यपाल ने वापस वापस कर दिया है। दिल्ली के नए उपराज्यपाल (एलजी) अनिल बैजल ने आप सरकार के महत्वपूर्ण नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी संस्थान (एनएसआईटी) विधेयक को लौटा दिया है। दिल्ली विधानसभा को भेजे गये इस विधेयक पर एलजी ने पुनर्विचार करने को कहा है।

आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले ही उपराज्यपाल ने दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्र्टी (आप) की सरकार को करारा झटका देते हुए डीटीसी एवं कलस्टर बसों के किराए में कटौती की फाइल को भी लौटा दिया था। गौरतलब है कि जून 2015 में दिल्ली विधानसभा में एनएसआईटी संशोधन विधेयक पारित किया था जो कि नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी संस्थान को विश्वविद्यालय का दर्जा देने से संबंधित था। विधेयक पारित करने के बाद सदन ने उसे मंजूरी के लिए गृह मंत्रालय को भेजा था।

दिल्ली विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने सदन को बताया कि एलजी ने नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी संस्थान विधेयक लौटाते हुए उस पर पुनर्विचार के लिए कहा है। वर्तमान समय में नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली विश्वविद्यालय से सम्बद्ध है।