ओह…तो क्या सच में छिड़ सकता है परमाणु युद्ध ?

वाशिंगटन। नाटो (नॉर्थ अटलांटिक ट्रीटी ऑर्गेनाइजेशन) के सदस्य देशों और रूस के बीच एक साल के भीतर परमाणु युद्ध छिड़ सकता है। यह आशंका संगठन के एक रिटायर्ड जनरल ने जताई है। उनका कहना है कि अगर नाटो बाल्टिक देशों लातविया, लिथुआनिया और इस्टोनिया आदि में अपनी सैन्य क्षमताओं में बढ़ोतरी नहीं करता है, तो ऐसा हो सकता है।

Missile

यूरोप में 2011 से 2014 के बीच नाटो के डेप्युटी सुप्रीम अलाइड कमांड रहे जनरल सर रिचर्ड शीरेफ ने कहा कि बाल्टिक देशों पर हमले की गंभीर आशंका है और पश्चिम को किसी संभावित तबाही से बचने के लिए अभी से कदम उठाने चाहिए। उन्होंने बीबीसी रेडियो से कहा कि जिस तरीके से चीजें चल रही हैं, उससे ऐसा युद्ध होने की आशंका अधिक है।

उन्होंने कहा कि डराने वाला तथ्य यह है कि रूस अपनी सुरक्षा क्षमता के हर पहलू को परमाणु सोच और ताकत से लैस रखता है, यह परमाणु युद्ध होगा। हमें रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को उनके कार्यों से आंकने की जररूरत है न कि उनके शब्दों से। उन्होंने जॉर्जिया में घुसपैठ की, उन्होंने क्रीमिया पर धावा बोला और यूक्रेन को भी नहीं बख्शा। उन्होंने ताकत का इस्तेमाल किया और आराम से बच निकले। इसलिए इस दौर में, बाल्टिक देशों पर हमले की पूरी संभावना है।