अशोक बाजपेई का हुआ हरदोई में आगमन

हरदोई। 40 वर्ष सपा में बिताने के बाद भाजपा में प्रवेश कर सपा के पूर्व विधान परिषद के सदस्य अशोक बाजपेई अब अपने हज़ारों समर्थकों के हीरे बन चुके हैं। इस बात का पता तब चला जब शुक्रवार को हरदोई आगमन करने पर आशोक बाजपेई के स्वागत और सत्कार समारोह में हज़ारों लोगों का हुजूम टूट पड़ा। इस कार्यक्रम का आयोजन गांधी भवन में किया गया था। हरदोई प्रस्थान करते ही बाजपेई को फूलों से तोल दिया गया, यहां तक कि समर्थकों की भारी भीड़ होने के चलते उनको मंच तक जाने में भी कड़ी मशक्त करनी पड़ी। मंच पर फूलों से सत्कार करने के बाद बाजपेई ने हाथ में गदा पकड़ कर भाजपा की ताकत का प्रदर्शन भी किया। इस पश्चात उन्होंने सभी भाजपा नेताओं और पदाधिकारियों का तहें दिल से शुक्रियादा अदा किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ में कसीदे भी पढ़े। साथ ही उन्होंने कहा कि सपा के वरिष्ठ नेता अशोक बाजपेई के मुताबिक सपा अब सिर्फ एक जंग के अखाड़े वाली रणनीत पार्टी बन चुकी है।

Ashok Bajpai, arrival, Hardoi,

सपा का लगाव पार्टी मुखिया मुलायम से था और पार्टी की विचारधारा वाली सोच से था। जो कि अब पार्टी में देखने को नहीं मिल रही थी और न ही पार्टी में पार्टी मुखिया का कोई वजूद रह गया था। यही कारण रहा की मुझे पार्टी को त्यागना पड़ा और राष्ट्र के हित में कार्यरत भाजपा में आना पड़ा। इस दौरान उन्होंने जीवन की आखरी सांस तक भाजपा के साथ रहने का वचन भी लिया है और पीएम नरेंद्र मोदी के देश के गौरव को आसमान की ऊंचाइयों तक ले जाने के अभियान में जी-जान से साथ देने के दावे और वादे भी किए है। उन्होंने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा की आज जब मैं हरदोई आया तो भाजपा के लोगों का प्यार और उनके द्वारा किए गए। मेरे स्वागत को देख ऐसा लगा की मैं आज से नही बल्कि कई वर्षों से भाजपा का सदस्य हूं।

स्वागत समारोह के समापन के बाद मीडिया से रूबरू होकर अशोक बाजपेई ने कहा कि समाजवादी पार्टी अब समाजवाद के उद्देश्यों से भटक गयी थी और जिन सिद्धांतो और विचारों को लेकर हमने समाज वादी पार्टी बनाई थी, अब उनसे इस पार्टी का कोई ताललुक नही रह गया था और हम लोग विचारों के आधार पर ही पार्टी में थे। इसी लिए मैंने पार्टी को छोड़ा है। उन्होंने कहा की बसपा और कांग्रेस अपना अस्तित्व खो चुके हैं, और भाजपा ही एक ऐसी पार्टी है, जो देश हित में काम कर रही है। इसी लिए अपने समर्थकों की राय से मैंने इस पार्टी में प्रवेश किया है।